A human is born in every house

इंसान तो हर घर में पैदा होता है पर इंसानीयत कहीं-कहीं ही जनम लेती है।

Download View Full Screen